Concept of दर्द-ए-जुदाई

दिल्ली से पटना ट्रेन से आ रहे थे तो साथ वाली सीट पर एक लड़का फ़ोन पर अपनी गर्लफ्रेंड से लगा हुआ था। कोई बात पर दोनों में लड़ाई हो रही थी। लड़का कभी गुस्साता कभी सेन्टियता कभी रोने कि एक्टिंग करता लेकिन लड़की भी तेज़ लग रही थी, नहीं मानी तो नहीं मानी। लड़का... Continue Reading →

We must Stereotype

We are born humans so it’s our job to stereotype other human beings. Stereotyping in fun otherwise what else is there in our empty lives without being judgmental. This girl, she consumes alcohol goes to parties so I being a small town guy must stereotype her as a easy going girl ready to get laid.... Continue Reading →

Blog at WordPress.com.

Up ↑