Taking a Glimpse of Pakistan at Wagah Border

Visiting the Wagah Border was like a dream come true because I was this close to Pakistan with only a thin imaginary line dividing us apart. A line that separated a landmass into two calling it two different countries with people of similar complexion and almost similar lifestyle that you are not supposed to visit.

फोटो यात्रा: देव दीपावली वाराणसी 2016

देव दिवाली के दिन घाटों को सजाने का काम एक दिन पहले ही शुरू हो जाता है| सुबह सुबह घाटों पर लड़किया रंगोलिया बनाना शुरू कर देती है| हर घाट की एक अलग रंगोली होती है| इस काम में विदेशो से आई लड़किया भी शामिल हो जाती है| उनके लिए तो ये भी incredible India का एक unique experience है|

Monsoon Madness – Exploring the Waterfalls of Ranchi

Ranchi is a place the glory of these waterfalls can be enjoyed at its best. During the monsoon, this beauty increases tenfolds. The hills of Chotanagpur plateau are not as high as the Himalayas or as well known as The Western Ghats but are an equal match when it comes to beauty and diversity.

बरसात में हम चले दूधसागर ढूंढने

थोड़ी थोड़ी दूर पर दूधसागर नदी आपके साथ चलती है, उसके बाद पेड़ो के झुरमुट से वेस्टर्न घाट की पहाड़िया आपको नज़र आने लगती है| पहाड़ पर मंडराते बादल एक पल को आपको हिमालय की याद दिला देते हैं, लेकिन फिर पता चलता है की अब नदी के बीच से एक पतली सी रस्सी पकड़ कर आपको आगे जाना है|

Musings From the Last Village of India

I am on my way to Chitkul, India’s last village before Indo-Tibet border. I missed the morning bus that travels from Sangla to Chitkul everyday and instead I had to take a lift with a local family. You never know when a stupid decision turns into a blessing.

अजब गजब सा किला रायपुर

किला रायपुर में वो सबकुछ है जो आप असली पंजाब में देखना चाहते हैं। दूर दूर तक हरे भरे खेत हैं, खाने के लिए छोले कुल्छे की रेहड़ियां और पीने के लिए कनस्तर जैसी गिलास में भर भर कर लस्सी। यहाँ फ़ास्ट फ़ूड के नाम पर समोसे और ब्रेड ऑमलेट से ज्यादा कुछ नहीं मिलता और लोगो की सादगी देख कर शहर के वातावरण से चिढ सी मचती है।

Blog at WordPress.com.

Up ↑